Hindi
Sunday 26th of January 2020
  365
  0
  0

आयतुल्लाह ज़कज़की के संबंध में नाइजीरियाई सरकार का हालिया क़दम का स्वागतः ईरान

आयतुल्लाह ज़कज़की के संबंध में नाइजीरियाई सरकार का हालिया क़दम का स्वागतः ईरान

इस्लामी गणतंत्र ईरान ने 2015 से जेल में बंद नाइजीरिया के वरिष्ठ धर्मगुरु आयतुल्लाह ज़कज़की के स्वास्थ्य चेक-अप की नाइजीरियाई सरकार द्वारा दी गई अनुमति का स्वागत किया है।

ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सयैद अब्बास मूसवी ने एक बयान जारी करके नाइजीरियाई सरकार द्वारा इस देश के इस्लामी आंदोलन के प्रमुख वरिष्ठ धर्मगुरु आयतुल्लाह शेख़ इब्राहीम ज़कज़की और उनकी पत्नी का प्रारंभिक स्वास्थ्य परीक्षण की अनुमति दिए जाने का स्वागत किया है। सैयद अब्बास मूसवी ने कहा कि ईरान इस बात का आशा करता है कि नाइजीरियाई सरकार, आयतुल्लाह ज़कज़की और उनकी पत्नी का देश के अंदर या बाहर पूर्ण रूप से उपचार कराएगी। उन्होंने कहा कि हम इस बात की भी उम्मीद करते हैं कि नाइजीरियाई सरकार, इस्लामी आंदलोन के साथ वार्ता करके सभी समस्याओं का समाधान निकालेगी और आयतुल्लाह ज़कज़की एवं उनकी पत्नी को पूरी तरह से क़ैद से आज़ादी मिलेगी।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार 25 अप्रैल को ब्रिटेन स्थित इस्लामी मानवाधिकार कमीशन आईएचआरसी के नेतृत्व में एक चिकित्सा टीम ने शेख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी से मुलाक़ात की थी और उनका पूरा  स्वास्थ्य चेप-अप किया था। चिकित्सा टीम का कहना था कि आयतुल्लाह शेख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी के तेज़ी से गिरते स्वास्थ्य पर तुरंत ध्यान दिए जाने की ज़रूरत है।

ज्ञात रहे कि नाइजीरियाई सैनिकों ने दिसम्बर 2015 में इस्लामी आंदोलन नाइजीरिया के प्रमुख आयतुल्लाह शेख़ इब्राहीम ज़कज़की के घर पर धावा बोलकर उन्हें घायल अवस्था में गिरफ़्तार कर लिया था और वहां प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों प्रदर्शकारियों को फ़ायरिंग करके मौत के घाट उतार दिया था मरने वालों में स्वयं शेख़ ज़कज़की के तीन बेटे भी शामिल थे। 

  365
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

    विश्व मज़दूस दिवसः सो जाते हैं ...
    पत्रकारों के ख़िलाफ़ इस्राईल के ...
    इराक़ी धर्मगुरु और नेता के बयान से ...
    आयतुल्लाह ज़कज़की के संबंध में ...
    फ़्रांस पूंजीवादी व्यवस्था के ...
    अफ़ग़ानिस्तान में शांति के लिए ...
    श्रीलंका में होटलों और गिरजाघरों में ...
    भारत ने किया एमीसैट, 28 विदेशी उपग्रहों ...
    इस्राईली कार्यवाहियों का कोई कानूनी ...
    किस हद तक गिरती जा रही हैं सरकारें?!

 
user comment